मेरे भारतीय मुस्लीम भाईओंके लिये

अभी अभी एक मुस्लीम भाई से फेसबुक पे बात हुई | हिंदू धर्म की काफी बुराई कर रहा था |
हमारे मुस्लीम भाई हमेशा हिन्दुओ की खामिया दिखाने में काफी दिलचस्पी रखते है | पुरी दुनिया जब इस्लामी कट्टरवाद जैसे समस्यासे परेशान है, तब इन्होने आत्ममंथन करना चाहिये, खुदकी या दुसरे मुसलमान भाईओंकी गलतीया सुधारनी चाहिये किंतु इनका पुरा ध्यान दुसरोंके तरफ उंगली उठाने में लगा रेहता है |
खैर, उनकी गल्तीया उन्हे मुबारक...

मेरा उनसे सिर्फ एक सवाल है...

हम हिंदू ये खुले दिलसे मानते है की जातीव्यवस्था एक अव्यवस्था बन गई है और अभिमान के साथ ये भी कहते है की उस व्यवस्था से लढने में भी हमारे हिंदू महापुरुष कही कम नही थे | ताजा उदाहरण देखिये...दाभोलकरजी जैसे अच्छे इंसान के हिंदू विरोधीओन्से कई गुना ज्यादा समर्थक हिंदू थे | उनकी घीनौनी हत्या होने के बाद ९०% हिंदुओने उसकी कडी निंदा की और जब अंधश्रद्धा विरोधी कानून लागू हुआ तब उसका खुले दिलसे स्वागत किया |

क्या मुस्लीम भाई ऐसा करते है ? आतंकवाद जैसे समस्यासे लढने मे सरकार की खुले दिलसे मदत करते है ? आतंकवाद की निंदा करते है ? और करते भी होंगे तो कितने प्रतिशत लोग मदत करते है ? पिछले साल आझाद मैदान पे जो हुआ उसकी कडी निंदा कितने मुस्लीम भाईओंने की ? उलटा इनका हमेशा "मिडिया खराब है" "सरकार खराब है"  "पुलीस बुरी है" बस येही चलता है |

इनका एक फेसबुक पेज है -Indian Muslims. - वहा की पोस्ट पढिये...ये पेज Indian Muslims है या Anti Hindu या Anti RSS या Anti Media/Police है समझ नही आता ! अपने लोगोन्मे बदलाव लाने की कोशिश, धार्मिक सुधार लानेकी कोशिश इस पेज पे कभी नही दिखती | दुसरोंकी खामिया दिखाके मजाक उडानेकी आदत दिखती है|
ऐसा क्यूं ?

दिलचस्प बात ये है...के आप जब ऐसे सवाल खुले दिलसे किसी मुस्लीम भाईसे पूछते हो तो वो या तो मुस्लीम लोगोकी अशिक्षा का कारण बताते है या फिर केहते है की "मुसल्मानोंकी गलती मतलब इस्लाम की गलती नही है" |

अरे भाई, फेसबुक पे कौनसे अशिक्षित लोग है ? और सचमे अगर अशिक्षा इतनी बडी समस्या है...तो अशिक्षाके खिलाफ लढो...सभी मुस्लीम भाई अच्छे स्कूलमें जाये इसके लिये प्रयास करो | हम सब इस अशिक्षा की समस्यासे छूटकारा पाने में आपके साथ काम करेंगे...!

रहा सवाल - "मुसल्मानोंकी गलती मतलब इस्लाम की गल्ती नही है" - तो फिर मेहेरबानी करके यही नियम हिंदू धर्म पे भी लगाईये ....! हिंदू लोगोंकी गलती मतलब हिंदू धर्म की गलती नही है | दुसरोंके तरफ उंगली उठाना, दुसरे धर्म की खामिया निकालना, उसका अपमान करना, मजाक उडाना कृपया बंद किजीये...!
(मै येही बात आक्रमक हिंदुवादी भाईओंसेभी हमेशा केहता हुं |)

कौन किस मजहब का है ये महत्वपूर्ण नही है | हम सब भारतीय है...मानव है...एक-दूसरों की समस्या सुलझाने मे एकदुसरेका हाथ बटाते हुए आगे बढेंगे तो ही इस दुनिया मे अमन और शांती कायम रहेगी |

वंदे मातरम् !

नोट : मै "हिंदुराष्ट्र"वादी या "कट्टर" हिंदुवादी नही | RSS कार्यकर्ता भी नही |
मेरे कई करीबी मुस्लीम दोस्त है | उनकी भारत के प्रती आस्था पे मुझे कोई संदेह नही | इस्लाम अगर शांती और अमन का धर्म है...तो जरूर होगा...मुझे कोई संदेह नही | मेरी समस्या सिर्फ मुस्लीम दोस्तोंका बर्ताव है...जैसा एक दोस्त ने अभी फेसबुक पे मेरे साथ किया | मैने इसी विषय पर २ ब्लॉग भी लिखे है...किंतु वे इंग्लिश है इस लिये आज हिंदी मे लिख रहा हुं |
ब्लॉग १ - To my Muslim brothers and sisters
मै "हिंदुराष्ट्र"वादी या "कट्टर" हिंदुवादी नही - इसका प्रमाण - मेरा मराठी ब्लॉग - हिंदुराष्ट्र कशासाठी?

No comments:

Post a Comment